Sunday, February 25, 2024

एलोवेरा: त्वचा के साथ-साथ सेहत का खजाना, जानिए 7 अद्भुत फायदे

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

Aloe vera ke fayde:- आज के आधुनिक समय में हर कोई व्यक्ति सुंदर दिखना चाहता है चाहे वह गरीब व्यक्ति हो या फिर अमीर व्यक्ति सब को आज के समय मे अपने आप को औरो से सूंदर दिखाने की कोशिश रहता है साथ ही सुंदरता को बढ़ाने के लिए तमाम लोगों द्वारा हरेक तरह के उपाय अपनाएं जा रहे हैं चाहे नेचुरल हो या कॉस्टमटिक. बीते कुछ दसक (वर्सो) से त्वचा की देखभाल के लिए आयुर्वेदिक औषधियों का प्रचलन काफी तेजी से बढ़ा है और इसके लिए एलोवेरा का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है।

एलोवेरा एक आयुर्वेदिक औषधीय गुण वाला पौधा है जो दिखने में हरा और कांटेदार होता है, इस पौधे को घृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है। एलोवेरा में कई तरह के औषधीय गुण होने के कारण यह त्वचा की देखभाल के अलावा बालों की देखभाल में भी काफी ज्यादा मददगार साबित होता है।

देखा जाए तो बहुत से लोग एलोवेरा का उपयोग सिर्फ और सिर्फ त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए ज्यादा करते हैं परंतु एलोवेरा का उपयोग वजन कम करने, बाल बढ़ाने या फिर कब्ज़ दूर करने जैसी अन्य समस्याओं में भी काफी मददगार होता हैं।

एलोवेरा का नियमित रूप से सेवन करने के फायदे, आइये जानते हैं कि एलोवेरा के सेवन से आपको क्या क्या फायदे हो सकते हैं। इसके सेवन से होने वाले कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं :

यदि आप लोग इस वेबसाइट पर पहली बार आए हैं, तो आप हमारे सोशल मीडिया पेज को अवश्य फॉलो कर लीजिए, ऐसे ही उपयोगी जानकारी हम आप लोगों के बीच लाते रहते हैं, यदि आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लग रहा है तो आप इसे आगे और पढ़ें।

aloe vera ke fayde

कब्ज़ दूर करने में रामबाण औषधि:-

कब्ज़ को दूर करने के लिए आप रोजाना नियमित रुप से एलोवेरा जूस का सेवन कीजिए ध्यान देने कि बात है कि अगर आप डायरिया से पीड़ित हैं तो इसका सेवन नही कीजिए। इसकी उचित मात्रा के लिए एक बार डॉक्टर से सलाह ज़रूर लीजिए। एलोवेरा की पत्तियों में लेटेक्स नामक पदार्थ पाया जाता है। इस लेटेक्स में प्राकृतिक लैक्सेटिव होते हैं जो कब्ज़ को दूर करने में काफी मददगार साबित होता हैं।

मुंहासे दूर करने में रामबाण औषधि:-

एलोवेरा का चेहरे पर उपयोग करना अभी के समय मे सबसे ज्यादा प्रचलित हो गया है क्योंकि इसमें सूजन रोधी गुण होते हैं जिस वजह से यह मुहांसों के इलाज में काफी असरदार साबित होता है। एलोवेरा को त्वचा पर लगाने से बैक्टीरियल संक्रमण रहित जीवाणु से त्वचा का बचाव होता है।

रुसी से छुटकारा दिलाए एलोवेरा:-

सर्दी के दिनों में बहुत सारे लोग बालों में रुसी की समस्या को लेकर परेशान रहते हैं। रूसी से छुटकारा पाने के लिए आप एलोवेरा जेल का इस्तेमाल कीजिए, रूसी से छुटकारा पाने के लिए बाल की जड़ों में एलोवेरा जेल लगाएं या आप एलोवेरा युक्त नेचुरल शैम्पू का उपयोग कीजिए।

मुंहासे और दाग धब्बे दूर करने के लिए एलोवेरा:-

चेहरे के मुहांसे और दाग धब्बे दूर करने के लिए एलोवेरा जेल को रोजाना दिन में 2-3 बार मुहांसों पर लगाएं। इस्तेमाल से पहले इसकी थोड़ी सी मात्रा त्वचा पर लगाकर जांच लें कि कहीं आपको इससे किसी तरह की एलर्जी तो नहीं है उसके बाद इसका नियमित उपयोग करें। जिन लोगों की त्वचा अतिसंवेदनशील है उन्हें लम्बी अवधि के लिए एलोवेरा के इस्तेमाल से परहेज करना चाहिए।

बालों को बढ़ाने में मददगार एलोवेरा:-

एलोवेरा का इस्तेमाल बालों को बढ़ाने के लिए काफी समय पहले से किया जा रहा है। एलोवेरा में एक ऐसा एंजाइम पदार्थ पाया जाता है जो सिर की त्वचा को तमाम तरह की बीमारियों से बचाये रखता है जिससे बालों का झड़ना धीरे धीरे कम हो जाता है। यह एक आयुर्वेदिक औषधि है जो सिर की त्वचा में मौजूद बालों की जड़ों में रक्तप्रवाह को संचालित करता रहता है जिससे बाल अधिक घने एवं मजबूत होते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स हटाने में सहायक:-

एलोवेरा का इस्तेमाल आप स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए भी कर सकते हैं। त्वचा के जिस हिस्से में स्ट्रेच मार्क्स हैं वहां एलोवेरा जेल लगाएं और कुछ देर तक मसाज करें। 15 मिनट तक इसे सूखने दें और फिर इसके बाद सादे पानी से धो लें। बेहतरीन परिणाम पाने के लिए दिन में दो बार इसका प्रयोग करें।

वजन कम करने में सहायक:-

एलोवेरा के सेवन से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। यह शरीर के मेटाबोलिज्म को बढ़ा देती है जिससे वजन कम करने में आसानी होती है। इसके लिए एक या दो चम्मच एलोवेरा के जूस को अपने पसंदीदा फल के जूस में मिलाएं और खाना खाने से 15 मिनट पहले इसका सेवन करें। एलोवेरा का सेवन एक या दो हफ़्तों से ज्यादा अवधि के लिए नहीं करना चाहिए। इसलिए सभी को यह सलाह दी जाती है कि किसी भी आयुर्वेदिक औषधि का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रुर लें।

बवासीर के दर्द और जलन को कम करने में सहायक:-

बवासीर होने पर मलद्वार के आस पास वाले हिस्से में मस्से निकल आते हैं जिनमें बहुत अधिक खुजली और जलन होती है। एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी क्षमताएं होती हैं और यह मस्सो में होने वाली सूजन और जलन को कम करने में बहुत लाभकारी है। इसके लिए आप एलोवेरा की थोड़ी मात्रा लें और इसे ऊँगलियों की मदद से मलद्वार के चारों तरफ लगाएं और ऊँगलियों से हल्की मसाज करें।

बेशक एलोवेरा के कई फायदे हैं लेकिन अगर आप लम्बे समय तक या किसी गंभीर बीमारी के इलाज के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो पहले डॉक्टर की सलाह ज़रुर लें।

आज के इस आर्टिकल में हमने देखा कि एलोवेरा एक आयुर्वेदिक रामबाण औसधि है, जो त्वचा और बालों के संरक्षण और सौंदर्य में अत्यधिक सहायक है। इसके नियमित उपयोग से हम कई स्वास्थ्य समस्याओं से निपट सकते हैं, लेकिन इसका सही और उचित उपयोग के लिए हमें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। आशा है कि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी रहा होगा।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Sangit Kumar
Sangit Kumarhttps://samastipurlive.com
In the span of six years, my journey as a content creator has evolved from the uncertainty of a beginner to the confidence of a seasoned professional. Each year brought unique challenges and opportunities, shaping me into a versatile creator adept at navigating the dynamic landscape of digital content. From mastering SEO and engagement strategies to specializing in niche areas, the experience has been a rollercoaster of growth and adaptation. Now, at the summit of expertise, I am equipped to continue crafting meaningful content in the ever-evolving world of digital media.
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img